राष्ट्रीय

रोटी की खातिर परदेश में जान गंवा रहे हैं बिहारी! उन घोषणाओं का क्या हुआ, जो लॉकडाउन के दौरान हुई थी?

पटना. बिहार से पलायन (Migrated) कर दूसरे राज्यों (Other States) में काम की तलाश में गए मजदूरों (Laborers) की लगातार हो रही मौत (Death) ने कई सवालों को जन्म दे दिया है. तेलंगाना, आंध्र प्रदेश और यूपी के बाद अब पंजाब के लुधियाना में भी मंगलवार देर रात एक दर्दनाक हादसा में एक ही परिवार के 7 लोगों की मौत हो गई है. इस हादसे में जान गंवाने वाला परिवार बिहार से पलायन कर लुधियाना में एक झोपड़ी बनाकर रह रहा था. मृतकों में पति-पत्नी और उनके 5 बच्चे शामिल हैं. मृतकों का परिवार बिहार के समस्तीपुर जिले का रहने वाला था, जिसकी पहचान सुरेश सहनी (55), अरुणा देवी (52), बेटियां राखी (15), मनीषा (10), गीता (8) और चंदा (5) और 2 साल के बेटे सन्नी के रूप में हुई है. इस हादसे में प्रवासी परिवार का बड़ा बेटा राजेश बच गया, क्योंकि वह अपने दोस्त के घर सोने चला गया था. ऐसे में सवाल उठ रहा है कि आखिर बिहारी मजदूरों की लगातार हो रही मौतों के लिए कौन जिम्मेदार है? आखिरकार झुलसकर घायल होनेवाले या मरने वाले ज्यादा लोग बिहार से ही क्यों होते हैं.

लुधियाना में मृतक परिवार का एकमात्र जीवित शख्स राजेश ने बताया कि उसके पिता सुरेश सहनी कबाड़ का काम करते थे. लॉकडाउन के बाद से ही वह लुधियाना में आ कर परिवार का पेट पाल रहे थे. बता दें कि हादसे की सूचना मिलते ही सिविल अस्पताल से डाक्टरों की टीम मौके पर पहुंची थी. डीसी सुरभि मलिक व पुलिस कमिश्नर कौस्तब शर्मा भी घटनास्थल पर पहुंचे. पुलिस ने झोपड़ी से सभी शवों को बाहर निकलवाया और पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल पहुंचाया. पूर्वी लुधियाना के सहायक पुलिस आयुक्त सुरिंदर सिंह के मुताबिक, ‘स्थानीय प्रशासन झोपड़ी में आग कैसे लगी यह पता लगाने में जुट गई है.

आनंद पवर्त के पास की कठपुतली कालोनी में भी आग लगने की सूचना प्राप्‍त हुई है. द‍िल्‍ली आग, द‍िल्‍ली व‍िश्‍वव‍िद्यालय, साउथ कैंपस, रामलाल आनंद कॉलेज, कठपुतली कालोनी, आनंद पर्वत, फायर टेंडर, द‍िल्‍ली समाचार, Delhi Fire, Delhi University, South Campus, Ramlal Anand College, Kathputli Colony, Anand Parbat, Fire Tender, Delhi News

हाल के दिनों में 20 से ज्यादा बिहारी मजदूरों की किसी न किसी वजह से जान चली गई है. (फाइल फोटो)

बिहारी मजदूरों की मौत पर अब उठने लगे सवाल
हाल के दिनों में 20 से ज्यादा बिहारी मजदूरों की किसी न किसी वजह से जान चली गई है. इससे पहले बीते 23 मार्च को ही तेलंगाना के सिकंदराबाद इलाके में एक कबाड़ गोदाम में भीषण आग लग गई थी. उस दर्दनाक हादसे में बिहार के 11 मजदूरों की जिंदा जलकर मौत हो गई थी. दूसरी घटना आंध्र प्रदेश के एलुरु स्थित एक केमिकल फैक्ट्री में हुई, जहां आग लगने के बाद बॉयलर में ब्‍लास्‍ट हो गया. इसमें आधा दर्जन लोगों की मौत हुई है. मरनेवालों में चार मजदूर बिहार के हैं. सभी चार मजदूर बिहार के नालंदा जिले के रहने वाले थे. कुछ दिन पहले ही वाराणसी में भी 2 मजदूरों की मौत हो गई और अब लुधियाना में भी एक ही परिवार के 7 सदस्यों की मौत हो गई है. कुछ दिन पहले ही उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद के विजयनगर में ही नाला खुदाई के दौरान एक स्कूल की दीवार गिरने से तीन बिहारी मजदूरों की मौत हो गई थी.

पलायन को लेकर राज्य सरकार का क्या रहा है रवैया
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मारे गए दोनों श्रमिकों के परिजनों के प्रति संवेदना जतायी और उनके परिजनों को दो-दो लाख रुपये अनुग्रह राशि देने की घोषणा की थी. अब बिहार से पलायन कर दूसरे राज्यों में गए मजदूरों की लगातार हो रही मौत पर बिहार कांग्रेस के दिग्गज नेता और एमएलसी प्रेमचंद्र मिश्रा ने नीतीश सरकार को घेरा है. मिश्रा न्यूज 18 हिंदी के साथ बातचीत में कहते हैं, ‘इसमें दो राय नहीं है कि बिहार में पलायन एक बहुत बड़ी समस्या है. यह कोई नई भी नहीं, लेकिन कोरोना के समय खुद राज्य सरकार ने स्वीकार किया था कि तकरीबन 22 लाख बिहारी मजदूर दूसरे राज्यों से बिहार आए. इन मजदूरों के लिए नीतीश सरकार ने रोजगार देने की बात की थी, लेकिन उन मजदूरों को फिर से पलायन कर दूसरे राज्यों में जाना पड़ा. यह नीतीश सरकार की नाकामयाबी है इससे वह इंकार नहीं कर सकती और अपनी जिम्मेदारियों से भाग नहीं सकती’

Andhra Pradesh chemical factory accident, Nalanda Labour's death, Manoj Ravidas's story, Manoj Ravidas's touching story, touching story, Andhra Pradesh went to earn money for sister's wedding, shadow of death at home, laborers of Bihar, Migration for employment, Bihar news, problem of laborers, आंध्र प्रदेश केमिकल फैक्ट्री हादसा, नालंदा के मजदूरों की मौत, मनोज रविदास की कहानी, मनोज रविदास के परिवार की मार्मिक कहानी, मार्मिक कहानी, बहन की शादी के लिए पैसे कमाने गया था आंध्र प्रदेश, घर पर मौत की छाया, बिहार के मजदूर, रोजगार के लिए पलायन, बिहार समाचार, मजदूरों की समस्या

आंध्र प्रदेश स्थित केमिकल फैक्ट्री हादसे में मारे गए मनोज रविदास (इनसेट) का शोक संतप्त परिवार.

विपक्षी दलों का क्या कहना है
मिश्रा आगे कहते हैं लगातार हो रही मौतों पर बिहार के सीएम को हस्तक्षेप करना चाहिए. मैंने विधान परिषद में भी यह मुद्दा उठाया था. मैंने सरकार से मांग की थी जब बिहारी मजदूरों की मौत पर दूसरी राज्य सरकारें पांच-पांच लाख रुपये मुआवजा देने की घोषणा करती है तो बिहार सरकार ने दो लाख रुपये का मुआवजा किस नीति के अंतगर्त किया?

वहीं, हाल ही में बिहार प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने वाले मदन मोहन झा ने भी बिहारी मजदूरों की मौत पर चिंता जाहिर किया है. झा कहते हैं, ‘जो आदमी कोविड के दौरान अपने राज्य के मजदूरों को घर लाने से मना करती रही, वह आदमी इन लोगों को कोई मदद करे इसमें मुझे संशय है. नीतीश सरकार की नियत पर मुझे संदेह है.’

बिहार से बाहर जा रहे कामगारों की मौत की घटना आए दिन आते रहते हैं. 

ये भी पढ़ें: Omicron XE Variant: दिल्ली में तेजी से पैर पसार रहा है कोरोना का नया वेरियंट, DDMA जल्‍द ले सकता है बड़ा फैसला

बिहार से बाहर जा रहे कामगारों की मौत की घटना आए दिन आते रहते हैं. हर घटना के बाद बिहार सरकार की तरफ से मुआवजे का एलान होता है, लेकिन एक-दो दिनों के बाद उन घटनाओं को भुला दिया जाता है. आखिर इन मजदूरों की मौत की असली वजह बेरोजगारी और पलायन को लेकर बिहार की सरकारें कब तक मुंह मोरती रहेगी? क्या बिहारी मजदूरों का परदेश में मरना सिर्फ नियति बन कर ही रह जाएगा?

आपके शहर से (पटना)

Tags: Bihar Congress, Bihar News, Bihar politics, Deaths, Migrant labours, Nitish Government

Source link

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
VIVA99 adalah salah satu deretan daftar situs judi online terpercaya dan paling gacor yang ada di indonesia . VIVA99 situs agen judi online mempunyai banyak game judi slot online dengan jacpot besar, judi bola prediksi parlay, slot88, live casino jackpot terbesar winrate 89% . Mau raih untung dari game judi slot gacor 2022 terbaru? Buruan Daftar di Situs Judi Slot Online Terbaik dan Terpercaya no 1 Indonesia . VIVA99 adalah situs judi slot online dan agen judi online terbaik untuk daftar permainan populer togel online, slot88, slot gacor, judi bola, joker123 jackpot setiap hari